सदन में पेश हो मजबूत जनलोकपाल बिल

    राष्ट्रीय सामाजवादी जनक्रांति पार्टी ने आरोप लगाया है कि नागरिकों को भ्रम में रखने के लिए सदन में बिल को कमजोर ढंग से पेश किया गया । संगठन की मांग है  कि इसके दायरे में विधायिका , न्यायपालिक , कार्यपालिका को  शामिल करते हुए बिल सदन में पेश किया जाए ।

    राष्ट्रीय सामाजवादी जनक्रांति पार्टी ने आरोप लगाया है कि नागरिकों को भ्रम में रखने के लिए सदन में बि

        जिला मुख्यालय में पार्टी की ओर से आयोजित धरने में यह बात कही गयी । इस मौके में पार्टी अध्यक्ष एसएल ठाकुर जी की विशेष उपस्थिती रही । वक्ताओं ने कहा कि जन लोकपाल बिल के तहत विधायिका , न्यायपालिक , कार्यपालिका को सदन में शामिल करने से अपनी आय से अधिक संपत्ति रखने वालों के खिलाफ कारगर कदम उठाए जा सकते हैं । यह पहल होने से काली कमाई करने वालों की संपत्ति को जब्त कर राज्यों के विकास कार्य में खर्च करना संभव होगा ।

     कल कारखानों को रोजगार देने का बढ़ावा मिलेगा । दूसरी ओर उन्होंने कहा कि छोटे रोज़गार में 51 फीसद एफडीआई छोटे व्यापारियों के लिए हानिकारक साबित होगी ।  इससे लघु व कुटीर उद्योगों पर भी बड़े कारोबारियों का कब्जा बढ़ेगा । धरने में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश पांडेय , जिलाध्यक्ष अंचल , डॉ प्रमोद पांडेय ,  रमाकांत त्रिपाठी ,रामगोविंद गोस्वामी , रविकांत शुक्ल , राजेश उपाधयाय , अब्दुल जब्बार , स्वर्ण सिह ,  प्रमोद सिंह , लाल चंद्र , राजकुमार वर्मा आदि की प्रमुख स्थिति रही ।

कमेंट या फीडबैक छोड़ें